MPTET: सरकार शिक्षक पात्रता परीक्षा रद्द करें

RANU PATHAK <ranupathak009@gmail.com> | मध्य प्रदेश व्यवसायिक परीक्षा मंडल जिसे हम व्यापम के नाम से भी जानते हैं अपनी कई परीक्षाओं को लेकर विवाद में रहा है पटवारी वनरक्षक तथा अभी हाल ही में हुई समूह 4 की परीक्षाओं में भी छात्रों ने इसकी परीक्षा प्रणाली एवं नॉर्मल आई जेशन को लेकर कई सवाल खड़े किए हैं समूह 4 पर तो जांच भी चल रही है विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस ने व्यापम को लेकर भी मुद्दा बनाया था और कहा था कि कांग्रेस पार्टी व्यापम को बंद करके एक नई संस्था बनाएगी जो राज्य की परीक्षाओं को आयोजित करवाएगा। 

व्यापम द्वारा आयोजित की जाने वाली उच्च माध्यमिक शिक्षक परीक्षा को लेकर भी कांग्रेस पार्टी ने कहा था कि इसे लोक सेवा आयोग से करवाना चाहिए लेकिन कांग्रेस के सत्ता में आने के बाद भी ना तो व्यापम बंद हुआ है बल्कि उच्च माध्यमिक शिक्षक परीक्षा की भर्ती प्रक्रिया भी आयोजित करवा रहा है यह बात समझ से परे है कि जिस संस्था पर कई छात्रों के भविष्य को खिलवाड़ करने का आरोप है उसी से राजपत्रित पद के लिए परीक्षा करवाई जा रही है व्यापम अपनी परीक्षाएं ऑनलाइन सिस्टम के माध्यम से करवाता है जिसमें नॉर्मलईजेशन की प्रक्रिया भी अपनाई जाती है यह प्रक्रिया जब से शुरू हुई है तभी से विवादों में रही है। मध्य प्रदेश के छात्रों का आरोप है कि व्यापम द्वारा की जाने वाली परीक्षाओं में मध्यप्रदेश के मूल निवासियों का प्रतिनिधित्व दिन-प्रतिदिन कम हो रहा है तथा परीक्षा परिणाम भी संदिग्ध पूर्ण रहे हैं। 

उच्च माध्यमिक शिक्षा परीक्षा का आयोजन इतनी आनन-फानन में करवाना भी छात्रों के गले में नहीं उतर रहा है हम सभी छात्रों का सरकार से यही अनुरोध है कि उच्च माध्यमिक शिक्षक परीक्षा व्यापम से ना आयोजित करवाई जाए बल्कि इसके स्थान पर एक नई परीक्षा संस्था का गठन किया जाए जो अपनी परीक्षाएं पारदर्शी रूप से आयोजित करें ऑनलाइन परीक्षा के स्थान पर ऑफलाइन परीक्षाएं आयोजित करवाई जाए जिससे कि नॉर्मल आई जेशन जैसी विवादित प्रणाली से छुटकारा मिल सके तथा मध्य प्रदेश की परीक्षाओं में मध्य प्रदेश के मूल निवासियों को प्राथमिकता मिले तथा मध्य प्रदेश की परीक्षाओं में सम्मिलित होने के लिए छात्रों को दसवीं एवं 12 बी मध्य प्रदेश से उत्तीर्ण होना आवश्यक हो।

Related Posts

Subscribe Our Newsletter