मृत कर्मचारियों के परिजनों को तत्काल राहत प्रदान करें उनके विभागीय कार्यालय

JABALPUR: अक्सर देखने में आ रहा है कि, कर्मचारियों का आकस्मिक निधन हो जाने पर, बहुत से कार्यालय तुरंत सक्रिय होकर शासकीय सेवकों की मृत्योपरांत प्रदान किये जाने वाले लाभ प्रदान नहीं कर रहे हैं। यह बहुत ही दुखद और घोर निराशाजनक बात है। किसी को भी यह नहीं भूलना चाहिए कि, मृत्यु एक अटल सत्य है, जो एक दिन सबको आनी है। ऐसे शासकीय सेवक जो किसी कारणवश असामयिक मृत्यु के शिकार हो जाते हैं, उनके आश्रित और परिजन आनायस उत्पन्न होने वाली, परिस्थितियों से जूझने में असमर्थ होते हैं । इन्हीं सब बातों को ध्यान में रखते हुए, शासन द्वारा मृत शासकीय सेवकों को लाभ पहुंचाने की दृष्टि विभिन्न कल्याणकारी योजनाएं लागू की गई हैं। किंतु खेद का विषय है कि, कुछ कार्यालय योजनाओं का लाभ प्रदान करने में ढुलमुल रवैया अपनाते हैं। ऐसी ही एक घटना अभी हाल ही में मंडला जिले के टाटरी ग्राम में घटी है। 

यहां आयुर्वेदिक औषधालय में कंपाउंडर के पद पर पदस्थ बीरालाल मरकाम का बीमारी के चलते इलाज के दौरान आकस्मिक निधन एक सप्ताह पहले हो गया है। खेद का विषय है कि, आयुष्विभाग के कार्यालय द्वारा अब तक मृतक के परिजनों की कोई सुध नहीं ली गई है और जो सहायता मृतक के परिजनों को अंतिम संस्कार से पूर्व उपलब्ध करवाई जानी थी वो भी आज दिनांक तक उपलब्ध नहीं करवाई गयी है । अपेक्षा है कि, आधिकारीगण तत्काल मृत कर्मचारी के परिजनों से मिलकर उनका हालचाल जानेंगे और सरकारी सहायता उन तक पहुंचाने का कष्ट करेंगे। 

उच्चाधिकारियों से अपील की जाती है कि, अपने आधीनस्थ कार्यालयों को विषयांतर्गत कार्यवाहियां करने हेतु सख्ती के साथ हिदायतें प्रदान करने का कष्ट करें। अपील करने वालों में भारतीय मजदूर संघ एवं समस्त सहयोगी संगठन शामिल हैं ।
प्रेषक, घनश्याम ज्योतिषी, संयोजक, भारतीय मजदूर संघ, जिला शाखा मंडला, मो.9425328589

Related Posts

Subscribe Our Newsletter