प्रत्येक हिन्दू परिवार में गाय की सेवा अवश्य होनी चाहिए

INDORE: जहां सत्य एवं भक्ति का समन्वय हो वहां भगवान का आगमन अवश्य होता है। प्रत्येक हिन्दू परिवार में गाय की सेवा अवश्य होनी चाहिए, क्योंकि गाय में 33 करोड़ देवी-देवताओं का वास होता है। गाय का दूध अमृत के समान होता है। प्रत्येक हिंदू को गाय की सेवा अवश्य करना चाहिए। यह बात भागवताचार्य सुनील शास्त्री ने सोमवार को एयरपोर्ट रोड स्थित छत्रपति नगर में कही। वे सात दिनी श्रीमद् भागवत कथा के छठे दिन संबोधित कर रहे थे। उन्होंने गोवर्धन पूजा एवं इंद्र के मान-मर्दन की कथा भी सुनाई। व्यासपीठ का पूजन मंटू मित्तल, रज्जा पंचौली, वासुदेव चावला एवं रवि वर्मा ने किया।

श्रीकृष्ण वल्लभ स्वरूपामृत महोत्सव
भगवान श्रीकृष्ण की लीला अलौकिक है। वो जो भी करते हैं उसका कोई न कोई कारण होता है। भगवान की हर लीला भक्तों के कल्याण के लिए होती है। यह बात गोस्वामी वागधीश बावाश्री ने गोवर्धननाथ मंदिर में कही। वे श्रीकृष्ण वल्लभ स्वरूपामृत सुधा रसपान महोत्सव में संबोधित कर रहे थे। महोत्सव 24 मई तक चलेगा।

व्यक्ति का अपमान भगवान का अपमान
इंद्रियों पर संयम रखने से जीवन मिश्री जैसा मधुर बन जाता है। जिसके जीवन में कड़वाहट हो उसकी भक्ति भगवान को प्रिय नहीं लगती है। कई लोग भक्ति तो करते हैं लेकिन उनका हृदय पत्थर जैसा कठोर होता है। किसी भी व्यक्ति का अपमान करने से भगवान का अपमान होता है। यह बात शंकराचार्य मठ के प्रभारी डॉ. गिरिशानंद ने सोमवार को नगीन नगर में कही। वे शंकराचार्य भक्त मंडल द्वारा अधिक मास में आयोजित रामचरित मानस मास पारायण पर आधारित प्रसंगों की व्याख्या कर रहे थे। शोभा बालकृष्ण चौकसे, रजनी मनोज चौधरी, रेणु राजेश शर्मा आदि मौजूद थे।

भागवत ज्ञानगंगा महोत्सव 27 से
सात दिनी भागवत ज्ञानगंगा महोत्सव 27 मई से रंगवासा रोड राऊ स्थित किष्किंधा धाम में आयोजित किया जाएगा। कथा का वाचन डाकोर के स्वामी देवकीनंदनदास करेंगे। संयोजक राजेंद्र गर्ग व रजत गर्ग ने बताया कि 27 मई को सुबह 7.30 बजे शोभायात्रा निकाली जाएगी। कथा दोपहर 3 से शाम 6 बजे तक होगी।

Related Posts

Subscribe Our Newsletter