पुरानी पेंशन लागू कराने मुख्यमंत्री जी के नाम तहसीलदार को सौंपा ज्ञापन - employee news

मंडला।
आजाद अध्यापक शिक्षक संघ मध्य प्रदेश के प्रांतीय आह्वान पर जिला अध्यक्ष संतोष सोनी के नेतृत्व में प्रांतीय संभागी जिला एवं ब्लाक कार्यकारिणी के सदस्य एवं अध्यापकों की उपस्थिति में जिले के अध्यापक शिक्षक संवर्ग न माननीय मुख्यमंत्री जी के नाम मंडला तहसीलदार देवी प्रसाद चक्रवर्ती को ज्ञापन सौंपा गया।

यह रही मांग

अध्यापक शिक्षक संवर्ग को भी अंशदाई पेंशन के स्थान पर अन्य शिक्षक संवर्ग की भांति पुरानी पेंशन लागू की जाए।
विगत वर्षों में दिवंगत अध्यापक शिक्षक संवर्ग के परिवार के सदस्यों को अनुकंपा नियुक्ति प्रदान की जावे,
2000 से 2007, 2008 एवं 2009 मे नियुक्त अध्यापक शिक्षक संवर्ग को समयमान वेतनमान के आदेश जारी किए जाएं ,
अध्यापक शिक्षक संवर्ग को ग्रेजुएटी के लाभ का स्पष्ट आदेश जारी करें,
गुरुजी संवर्ग के अध्यापक शिक्षक संवर्ग को भी शिक्षा गारंटी साला से प्राथमिक शाला में उन्नत दिनांक से वरिष्ठता का लाभ प्रदान किया जावे जैसा कि छत्तीसगढ़ में गुरुजी संवर्ग को दिया गया है,
समस्त शासकीय कर्मचारियों की प्रतिवर्ष 1 अप्रैल की स्थिति में समस्त विभागों और नियुक्ति कर्ता अधिकारियों द्वारा अपने कर्मचारियों की आपसी वरिष्ठता सूची का प्रकाशन नहीं किया जा रहा है जिसे अविलंब प्रकाशित करवा कर अध्यापक शिक्षक संवर्ग की पदोन्नति के लिए रिक्त 50% पदों पर पदोन्नति की जावे,
अध्यापक शिक्षक संवर्ग को भी केंद्र के समान महंगाई भत्ता दिया जावे,
प्रतिनियुक्ति पर जनजाति कार्य विभाग में आए प्राथमिक माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक शिक्षकों को जनजाति कार्य विभाग में मर्ज किया जाए,
आईएफएमआईएस पोर्टल पर प्राथमिक माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक शिक्षकों के पदों की पूर्ति की जाए।
जिले में पदस्थ प्राथमिक माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक शिक्षकों को क्रमोन्नति का लाभ देते हुए क्रमोन्नत वेतनमान प्रदान किया जाए।
ज्ञापन में उक्त मांगों को शीघ्र निराकरण करने की मांग की गई है।

मृतक अध्यापक के आश्रितों की सौंपी सूची

आजाद अध्यापक शिक्षक संघ के जिला अध्यक्ष संतोष सोनी ने बताया कि अध्यापक शिक्षक संवर्ग के जिलों में विगत वर्षों में मृत हुए अध्यापक शिक्षक संवर्ग के 41 नामों की सूची ज्ञापन के साथ माननीय मुख्यमंत्री महोदय को भेजी गई है जिसमें मृत अध्यापक शिक्षक के परिवार में आश्रितों को नाही अनुकंपा नियुक्ति मिल पा रही है नाही पेंशन की पात्रता उपलब्ध है जिससे उनके जीवन में घोर अंधकार छाया हुआ है आजाद अध्यापक शिक्षक संघ में सरकार से दो टूक कहा है कि यदि पेंशन लागू नहीं की गई तो भी का आंदोलन अप्रैल के माह में शुरू होगा
और नया पुराने