Business

header ads

JABALPUR में 8 दिन का जनता कर्फ्यू, व्यापारियों ने किया लॉकडाउन का ऐलान - MP NEWS

जबलपुर। जबलपुर शहर में महामारी से मौतों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। ना केवल संक्रमित नागरिकों की संख्या बढ़ रही है बल्कि संक्रमित इलाकों की संख्या भी बढ़ती जा रही है। इसे रोकने के लिए जबलपुर शहर के व्यापारियों ने एक राय होकर फैसला किया है कि 8 दिन के लिए जबलपुर शहर को लॉकडाउन कर दिया जाएगा।

जबलपुर के पत्रकार श्री आशीष शुक्ला की एक रिपोर्ट के अनुसार जबलपुर शहर के व्यापारियों ने 15 से 22 सितंबर तक जबलपुर में पूरा बाजार लॉकडाउन करने का फैसला किया है। जबलपुर के व्यापारियों ने कहा कि 15 सितम्बर से 22 सितंबर तक स्वस्फूर्त बंद को सभी व्यापारी व्यापक समर्थन दें क्योंकि शासन या जनप्रतिनिधि आपको बचाने नहीं आएंगे वे सिर्फ खुद को बचाने में लगे है।

जबलपुर के दुकानदारों का कहना है कि व्यापार तो हम कभी भी कर लेंगे परंतु यदि परिवार में सदस्यों की संख्या कम हो गई तो खुद को कभी माफ नहीं कर पाएंगे। बताते चलें कि संचालनालय स्वास्थ्य सेवाएं द्वारा जारी कोरोनावायरस बुलेटिन दिनांक 10 सितंबर 2020 के अनुसार जबलपुर में 5600 से अधिक नागरिक महामारी से पीड़ित हो चुके हैं जिनमें से 104 लोगों की दर्दनाक मौत हो चुकी है। जबलपुर के अस्पतालों में 1300 से अधिक लोग जिंदगी और मौत के बीच झूल रहे हैं।

11 सितम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

MPTET-3 EXAM 2020: वर्ग 3 का परीक्षा कार्यक्रम घोषित
SCHOOL OPEN: स्कूल खोलने के लिए सरकार ने SOP जारी किया
BF ने GF से कैंसर पीड़ित पिता के लिए खून बदले आबरू ले ली
इंडियन आर्मी की यूनिफार्म का कलर ग्रीन क्यों होता है
यदि दामाद अपनी पत्नी को मायके वालों से मिलने ना दे तो किस धारा के तहत मामला दर्ज होगा
MP BOARD हायर सेकेण्डरी/हा.से.व्यावसायिक एवं हाईस्कूल पूरक परीक्षा कार्यक्रम
MP NEWS: आंध्र प्रदेश से आए बादल मध्य प्रदेश के 21 जिलों में बरसेंगे
GWALIOR के भाजपा नेता सतीश सिकरवार कांग्रेस में शामिल, उपचुनाव चुनाव लड़ेंगे
इलेक्ट्रिक करंट कब झटके मारता है और कब चिपका लेता है, ध्यान से पढ़िए
INDORE में स्कूल ने बेटे को क्लास से निकाला, माँ ने पिता को जीवन से निकाल दिया
स्पेशल ट्रेन के नाम पर दोगुना किराया वसूली कर रहे थे, अब यात्री ही नहीं मिल रहे
20-50 फार्मूला पर अनिवार्य सेवानिवृत्ति: सुप्रीम कोर्ट के निर्णयों पर आधारित स्थापित सिद्धांत
कंप्यूटर के मेन बोर्ड को मदर बोर्ड क्यों कहते हैं फादर बोर्ड क्यों नहीं कहते हैं
DAVV NEWS: फर्जी वेबसाइट चल रही थी, यूनिवर्सिटी को पता ही नहीं, हजारों स्टूडेंट्स ठगे
इंदौर में BF संग लिव इन में रह रही लड़की ने सुसाइड किया, प्रेमी के खिलाफ केस दर्ज
नाबालिग लड़की की खरीद-फरोख्त या वेश्यावृत्ति पर FIR में धारा कौन सी धारा दर्ज की जाएगी
EPFO की बैठक में ब्याज दर का निर्धारण, 6 करोड़ कर्मचारियों को लाभ
INDORE में केंद्रीय विद्यालय के लिए आदेश जारी


from Bhopal Samachar | No 1 hindi news portal of central india (madhya pradesh) https://ift.tt/3m4xNau