Business

header ads

कर्मचारी संघ ने विधायकों के आयकर का सरकारी खजाने से पेमेंट पर आपत्ति जताई - EMPLOYEE NEWS

भोपाल। मुख्यमंत्री महोदय के लिए कोरोना संकट के दौरान लगभग 60 करोड़ का एयरक्राफ्ट आने के समाचार की स्याही सूखी भी नहीं और माननीयों के आयकर भुगतान हेतु ₹एक करोड़ अस्सी लाख जारी किये जाने के समाचार आ गये। "मप्र तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ" के प्रांताध्यक्ष श्री प्रमोद तिवारी एवं प्रांतीय उपाध्यक्ष कन्हैयालाल लक्षकार ने संयुक्त प्रेस नोट में बताया कि देश में पांच राज्यों जिसमें मप्र के अलावा छत्तीसगढ़, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश व उत्तराखंड में माननीयों के आयकर का भुगतान सरकारी खजाने से किया जाता है। 

मप्र में यह भुगतान 01 अप्रैल 1994 से खजाने से सतत किया जा रहा है। इससे इन्हें दोहरा फायदा व खजाने को नुकसान होता है। एक तो माननियों का सरकार द्वारा आयकर भुगतान से लाभ होता है वहीं दूसरी ओर इनकी आय में तो इतनी ही वृद्धि अपने आप हो जाती है व इसके भुगतान का भार खजाने पर आ जाता है। इससे तो आयकर माफ कर दिया होता तो दौहरे नुकसान से बचा जा सकता है। 

इनके भविष्य को सुरक्षित रखने के लिए पेंशन प्रावधान है। लेकिन वर्षों सेवा करने वाले कर्मचारियों को पुरानी पेंशन योजना से वंचित कर दिया गया है। यह कहाँ तक न्यायोचित है कि आयकर योग्य "आय" कमाने वाले से आयकर नहीं लिया जाता है, इसकी भरपाई खून-पसीने से खजाना भरने वालों को  करना पड़ रही है। यह शोध का विषय हो सकता है कि "माननीय वास्तव में आयकर भुगतान में असमर्थ है!" यदि साधारण आयकर दाता से थोड़ी चूक हो जाए तो उसकी खैर नहीं। 

यहां यह भी उल्लेखनीय है कि माननीयों को वेतन से ज्यादा भत्तों के रूप में राशि मिलती है। गत वर्ष से "उत्तर प्रदेश की योगी सरकार" ने साहसिक, सराहनीय व सर्वमान्य निर्णय लेते हुए माननीयों के आयकर का भुगतान उक्तानुसार करने पर पाबंदी लगा कर स्वयं को पाबंद कर दिया है। प्रदेश में भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों को विगत सरकार द्वारा अक्तूबर 2019 के आदेशानुसार जुलाई 2019 से एरियर सहित 5 फीसदी डीए सतत दिया जा रहा है। 

इस आदेश को स्थगित न कर इसके उलट कोविड-19 के कारण कर्मचारियों अधिकारियों के 5% डीए मार्च 2020 में जारी आदेशानुसार जुलाई 2019 से दिया जाना था; स्थगित किया। ये प्रदेश सरकार के विरोधाभासी निर्णय है। उसके बाद तो छठे/सातवें वेतनमान के एरियर की अंतिम किश्त जो अप्रैल-मई में भुगतान होना थी, उसे रोका गया। फिर जुलाई से मिलने वाली 3% वार्षिक वेतनवृध्दि रोककर काल्पनिक गणना के आदेश दिये गये। इन आदेशों के पीछे तर्क दिया गया है कि कोविड-19 के कारण स्थितियां खराब हो गई है। 

एयरक्राफ्ट के आने व माननीयों के आयकर का भुगतान करने व भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों को उपकृत करने के बाद यह सिद्ध हो गया है कि प्रदेश की आर्थिक हालत केवल कर्मचारियों अधिकारियों को देते वक्त खराब हो जाती है! यह स्थिति माननीयों एवं भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों के प्रति रहम व अधिकारी कर्मचारियों के लिए सितम नहीं है? माननीय श्रीमान शिवराजसिंह जी चौहान मुख्यमंत्री महोदय मप्र शासन भोपाल सार्वजानिक रूप से व्यक्त चुके है कि कर्मचारी अधिकारी शासन की रीढ़ है तो फिर रीढ़ को आर्थिक रूप कमजोर करना हजम नहीं हो रहा है। 

"मप्र तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ" माननीय मुख्यमंत्री से अपेक्षा करता है कि अधिकारियों कर्मचारियों के स्वत्वों के भुगतान पर अविलंब निर्णय लेकर कोरोना काल में रोके गये डीए, एरियर व वास्तविक वेतनवृद्धि तत्काल देते हुए सभी के लिए पुरानी पेंशन योजना में शामिल कर इस वर्ग का आक्रोश व नाराजगी समाप्त करना चाहिए। विधानसभा उप चुनाव में इसका असर परिलक्षित होगा।

14 सितम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार

वह कौन सा पेड़ है जो नर और मादा दोनों प्रकार में पाया जाता है
ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पुलिस के वाहन से जनसंपर्क किया, कांग्रेस को आपत्ति
इंदौर में BF संग लिव इन में रह रही लड़की ने सुसाइड किया
BF ने GF से कैंसर पीड़ित पिता के लिए खून बदले आबरू ले ली
DIGVIJAY SINGH कांग्रेस से रिटायर, CWC में स्थाई सदस्य बनाकर हिसाब-किताब चुकता
जनता के साथ विश्वासघात करने वाली सरकार को बेदखल करना मेरा पहला दायित्व: ज्योतिरादित्य सिंधिया
MPTET-3 EXAM 2020 स्थगित, पढ़िए परीक्षाओं का आयोजन कब होगा
INDORE में शाम को बंद हो जायेगा बाजार, 326 नए संक्रमित मिले
मुड़ते समय रेलगाड़ी एक तरफ क्यों झुक जाती है
लड़की ने 10 फर्जी वेबसाइट से 10 हजार लोगों से 10 करोड़ की ठगी, मुंह ना खोल दे इसलिए वेबसाइट डेवलपर से सगाई कर ली थी
INDORE करूणानिधि हॉस्पिटल के 2 डॉक्टर गिरफ्तार, मामला नवजात बच्चों की चोरी का
SBI HOME LOAN पर तीन स्पेशल ऑफर
KHANDWA में महिला SI की प्रताड़ना से बचने युवक फांसी पर झूल गया
MORENA भाजपा की रैली में कांग्रेसी घुस आए, सिंधिया गद्दार, काले झंडे दिखाए
MP CORONA: हर 3 घंटे में 2 लोगों की मौत, पॉजिटिविटी रेट खतरे के निशान से ऊपर
INDORE का आकर्ष जैन JEE MAIN-2 में भी 99.99 परसेंटाइल


from Bhopal Samachar | No 1 hindi news portal of central india (madhya pradesh) https://ift.tt/2DUMnA6