Business

header ads

कोविड -19 के विरूद्ध इस युद्ध में सहभागी बनना चाहता हैं मप्र का अध्य्यापक शिक्षक संवर्गीय समूह

अद्यापक संघर्ष समिति और नेशनल मूवमेंट ऑफ ओल्ड पेंशन स्कीम के मप्र के मीडिया प्रभारी हीरानन्द नरवरिया ने  जानकारी देते हुए बताया कि वह स्वयं इस साशन की मुहिम  से जुडकर इस कठिन समय में वंचित पीड़ित समाज को अपना योगदान देकर प्रेरित कर रहें है ,और इस मुहिम में जुड़ने की अपील कर रहे हैं

म. प्र के अध्य्यापक शिक्षको ने इस विपदा की घड़ी में . शासन  के कार्यों में सहयोग के लिए एक कदम आगे बढ़ाकर सहयोग करने लिए बड़ी संख्या में साशन के साथ खड़े हुए हैं आप एक जिम्मेदार नागरिक के  रूप में स्‍वयंसेवक बन रहे हैं ।
और इतना ही नही मप्र के अध्य्यापक शिक्षक संगठन मुख्यमंत्री सहायता कोष में एक दिन के वेतन से लेकर पांच दिन का वेतन कोष एवं लेखा के सॉफ्टवेयर से काटने का अनुरोध कर चुके हैं। और अब इसके साथ साथ सामाजिक दायित्व और मानवता की सेवा हेतु सरकार से कंधे कंधे मिलाकर चलने को तत्पर हैं।

गौरतलब है पिछले दिनों स्व प्रेरणा से डी के सिंगोरे  के नेतृव में ट्रायबल वेलफेयर एसोसिएशन की टीम मास्क , सेनेटाइजर और गरीबो की मदद में लगी है शिवपुरी में इरशाद हिंदुस्तानी धर्मन्द्र रघुवंशी गरीबों की मदद कर रहे हैं।

इस मुहिम में  जगदीश यादव  (राज्य शिक्षक संघ) ,रमेश पाटिल और बी एल मालवीय (अध्य्यापक संघर्ष समिति) सजीर कादरी, भरत  भार्गव, सुरेश यादव, बी एल मालवीय, बाल कृष्ण शुक्ला, आरिफ खान मनोहर प्रसाद दुबे, रामचरण वर्मा (मप्र राज्य शिक्षक संघ) राकेश पांडेय, दीपक भार्गव, आदि लगे हुए हैं।