Business

header ads

नीमच-मंदसौर संसदीय क्षेत्र के सांसद की एक बार पुनः निष्क्रियता उजागर हुई | indore

नीमच। ज़िले में भी पासपोर्ट कार्यालय खोलने की प्रक्रिया काफ़ी समय से चल रही हैं लेकिन विदेशमंत्रालय के भोपाल स्थित अधिकारी और स्थानीय सांसद की निष्क्रियता के कारण कार्यालय नहीं खुल रहा हैं। नीमच में खुलने वाला पासपोर्ट केंद्र नहीं खुल रहा हैं .नीमच-मंदसौर संसदीय क्षैत्र के सांसद सुधीर गुप्ता की नीमच जिले के प्रति उदासिनता का ही परिणाम है कि नीमच जिला विकास की दृष्टि से न सिर्पâ पिछड़ रहा है बल्कि सामान्य तौर पर मिलने वाली जो सुविधाएं है उससे भी वंचित होता जा रहा है । उक्त बात पूर्व विधायक डॉ. सम्पत स्वरूप जाजू ने कही । 

उन्होने कहा कि पूर्व में लम्बी दूरी की जो ट्रेने नीमच में स्पाटेपज करती थी वह अब नीमच के बजाय मंदसौर कर रही है तथा अब संसदीय क्षैत्र के लिये मिलने वाला पासपोर्ट केन्द्र जो कि नीमच के लिये प्रस्तावित किया गया है सांसद सुधीर गुप्ता जी की निष्क्रियता के कारण खुल नहीं रहा हैं। 

पूर्व विधायक डॉ. सम्पत स्वरूप जाजू ने अपने बयान में कहा कि देश के प्रत्येक हर संसदीय क्षैत्र में एवम् प्रत्येक ज़िले में एक-एक पासपोर्ट सेवा केन्द्र खोलने का प्रावधान किया गया है जिसके अन्तर्गत नीमच-मंदसौर संसदीय क्षैत्र के जिलो में भी पासपोर्ट सेवा केन्द्र खोलें  जाना है । इस हेतु संसदीय क्षैत्र के नीमच जिला मुख्यालय को हर दृष्टि से पासपोर्ट सेवा केन्द्र के लिये योग्य स्थान माना जा सकता है तथा प्रशासनिक स्तर पर इसके लिये पहल भी की गई है व कुछ समय पूर्व स्थान देखने के लिये अधिकारियो का एक दल नीमच भी पहुंचा था। 

क्या आ रही है परेशानी
नीमच में पासपोर्ट सेवा केन्द्र खोलने के लिये मात्र ३०० स्क्वायर फीट की जमीन चाहिये जिसके लिये पोस्ट आफिस का वर्तमान पार्विंâग स्थल भी देखा गया । उक्त जगह उपयुक्त तो पाई गई लेकिन वहा भवन निर्माण के लिये उनके पास बजट मात्र एक से लेकर डेढ़ लाख तक का ही प्रस्तावित किया जा रहा है जबकि उक्त भवन के निर्माण में डेढ़ लाख से अधिक की धनराशि खर्च होना संभावित है । पूर्व विधायक डॉ जाजू का कहना है कि इस एकमात्र परेशानी के कारण अधिकारीगण नीमच के बजाय मंदसौर में भी संभावना को तलाश रहे है । 

सांसद है निष्क्रिय
डॉ. जाजू ने कहा कि इस मामले में सांसद उदासिन एवं निष्क्रीय बने हुए है ताकि बिना कुछ किये ही उक्त पासपोर्ट सेवा केन्द्र नीमच के बजाय मंदसौर चला जावे। 

जबकि उक्त भवन के निर्माण के लिये वे स्वंय सांसद निधि से ही धनराशि खर्च कर सकते है तथा ऐसा भी नही होता है तो विधायक निधी या फिर नगरपालिका के माध्यम से भी अंचल के नागरिको की सुविधा हेतु भवन बनवा सकते है लेकिन ऐसा कोई नही कर रहा है । वही सांसद महोदय अपनी भूमिका को भी स्पष्ट नही कर रहे है क्योंकि स्थान के चयन में सांसदभी चाहे तो कब का नीमच में पासपोर्ट केन्द्र बनकर तैयार हो जाता और प्रारंभ भी हो जाता लेकिन मार्च के माह में लोकसभा चुनाव के लिये आचार संहिता लग जाएगी तो यह प्रोजेक्ट इस कार्यकाल में नीमच के लिये धरा का धरा रह सकता है। 

समाजसेवी संस्थाएं भी दे ध्यान- डॉ जाजू ने नीमच नगर की समाजसेवी संस्थाओ से भी अपील की है कि उक्त  पासपोर्ट केन्द्र जो नीमच के लिये प्रस्तावित है को सांसद महोदय की संज्ञान में लाकर खुलवाने का शीघ्र प्रयास करे।