SOCIAL WORKER को गोली मारी, करने वाली थी RAPE CASE के सच का खुलासा

GWALIOR: शहर के एक व्यापारी पर रेप का केस दर्ज कराने वाली युवती के बारे में ब्लैकमेलिंग का खुलासा करने से पहले ही एक सामाजिक कार्यकर्ता को गुरुवार रात अज्ञात बदमाश ने गोली मार दी। घायल युवती ने अपनी फेसबुक वॉल पर एक पोस्ट में लिखा था कि वह शुक्रवार को भोपाल में प्रेस काॅन्फ्रेंस लेकर इस मामले का खुलासा करेगी। उसका दावा है कि रेप का केस दर्ज कराने के बाद युवती ने किस आरोपी से कितने पैसे मांगे, इसका पूरा रिकॉर्ड उसके पास मौजूद है। 

ज्वाला शक्ति संगठन और बेटा बचाओ अभियान की संयोजिका काजल जादौन को गुरुवार रात लगभग पौने 10 बजे हरीशंकरपुरम में गणेश मंदिर के पास एक होटल के पीछे एक युवक ने गोली मार दी। काजल का कहना है कि वे पंतनगर कॉलोनी स्थित अपने घर से हरीशंकरपुरम के एक जनरल स्टोर पर अंडे लेने गई थी। अंडे लेकर वे कुछ दस्तावेज की फोटोकॉपी कराने जा रही थी। तभी एक युवक ने पता पूछने के बहाने उसे रोका और पिस्टल निकालकर उस पर फायर कर दिया। गोली उसकी कमर में लगकर आरपार हो गई।

मूलत: राजस्थान के करौली की रहने वाली काजल का विवाह 2003 में ग्वालियर निवासी एक युवक से हुआ। पति प्राइवेट कंपनी में नौकरी करते थे। शादी के तीन माह बाद काजल भी नौकरी करने लगी। पति ने ऐतराज किया तो दोनों में विवाद होने लगा। अंतत: 2014 में काजल ने घर छोड़ दिया और अपने बेटे के साथ अलग रहने लगी। उन्होंने ज्वाला शक्ति संगठन और बेटा बचाओ अभियान शुरू किया। इसके माध्यम से वे महिलाओं के सशक्तिकरण का काम कर रही हैं। पिछले दिनों उन्होंने कुछ ऐसी महिलाओं का भंडाफोड़ किया था, जो रेप के आरोप लगाकर युवकों से पैसे ऐंठती थीं।

काजल ने बुधवार को अपनी फेसबुक वॉल पर डीजीपी को दिए ज्ञापन की कॉपी पोस्ट करते हुए कहा था कि ग्वालियर में रहने वाले कारोबारी मनीष बांदिल और संजय कठ्ठल के खिलाफ एक युवती ने जो रेप का केस दर्ज कराया है। वह ब्लैकमेल करने की नीयत से कराया गया है। इसका खुलासा शुक्रवार को भोपाल में प्रेस काॅन्फ्रेंस में किया जाएगा। इस पत्र में उन्होंने युवती के आरोपों पर सवाल उठाते हुए लिखा है कि उसके आरोपों के बारे में पुलिस को पड़ताल करनी चाहिए कि कारोबारी उसके साथ जयपुर या मुंबई कब गया, वहां के होटलों के सीसीटीवी फुटेज देखे जाने चाहिए। मोबाइल लोकेशन पता करना चाहिए। काजल ने लिखा है कि इस मामले में कितने रुपए पहुंच चुके हैं और कितने पहुंचने वाले हैं, इस बारे में उसके पास पर्याप्त सबूत हैं।

Related Posts

Subscribe Our Newsletter